What is Search Engine Optimization – SEO क्या है, क्यों जरुरी है, कैसे करें? पूरी जानकारी हिंदी में

Search Engine Optimization और यह किसी भी Blog के लिए बहुत जरुरी है. ये किसी भी वेबसाइट और ब्लॉग का

नीव है क्यूँकि आप चाहे तो कितनी भी अच्छी article लिख रहे हो चाहे उसकी length कितनी भी हो।

 

उस आर्टिकल को वेबसाइट पर अपलोड भी अपलोड किया , वो आपको  वेबसाइट के लिए ट्रैफिक generate नहीं कर

सकता अगर उसका SEO नहीं किया जायेअच्छे से. वेबसाइट की रैंकिंग के लिए बहुत से फैक्टर होते है  पर हमें काम

करने की जरूरत होती है. अगर हम सभी चीजों को फॉलो करते है तो easily रैंक कर सकते है और  गेन कर सकते है.


आज के डिजिटल युग में, यदि आप लोगों के सामने रहना चाहते हैं, तो ऑनलाइन ही एकमात्र तरीका है जिससे आप एक

साथ लाखों लोगों के सामने आ सकते हैं।

यदि आप चाहें, तो आप यहां केवल वीडियो के माध्यम से प्रकट हो सकते हैं या अपनी लिखित सामग्री से लोगों तक पहुंच सकते हैं। लेकिन ऐसा करने के लिए, आपको सर्च इंजन के फ्रंट पेज पर होना होगा क्योंकि ये वे पेज हैं जिन्हें विजिटर सबसे ज्यादा पसंद करते हैं और उन पर सबसे ज्यादा भरोसा करते हैं।

लेकिन यहां तक ​​पहुंचना कोई आसान काम नहीं है क्योंकि इसके लिए आपको अपने आर्टिकल्स का ठीक से SEO करना होता है। इसका मतलब है कि उन्हें ठीक से अनुकूलित करने की आवश्यकता है ताकि वे खोज इंजन में रैंक कर सकें। और इस प्रक्रिया को SEO कहते हैं।

आइये अब SEO  डेफिनेशन, टाइप, काटोगेरी, बेनिफिट्स के बारे में सब जानते हैं. 

What is SEO in Hindi – SEO क्या है?

SEO या Search Engine Optimization एक ऐसा तरीका है किसी भी वेबसाइट और ब्लॉग के पोस्ट या पेज को किसी भी

सर्च इंजन के आर्गेनिक रिजल्ट में सबसे ऊपर  लाना है , या रैंक करना हैं। 

आर्गेनिक रिजल्ट से हमारा मत है सर्च इंजन [Google, Yahoo,  Being  ] पर जो फ्री में रिजल्ट्स शो होते है उनमे हमारी वेबसाइट और ब्लॉग दिखे ।

Google दुनिया का सबसे बड़ा  search इंजन हैं जिसे दुनिया क 70% यूजर use करते हैं, SEO की मदद से हम सभी सर्च इंजन पर अपना ब्लॉग नंबर 1 बना सकते हैं।

जब Google में जाकर user कुछ search करता है उसे keyword कहते है. उस keyword से related जितने भी contents होते हैं वो आपको Google दिखा देता है. ये contents जो हमे नज़र आते हैं वो सभी अलग अलग blog के होते है ऐसी को आर्गेनिक रिजल्ट कहते हैं. 

Contents

SEO क्या है इसके बारे में हिंदी में पूरी जानकारी निचे दी  वीडियो में दी गए है वीडियो देखे
Click on link – https://www.youtube.com/watch?v=11IB7y12NbQ&list=PL6JxyyhPTInd37enxhPN3RVPsQX4xinbg
Full Form of SEO – SEO फुल फॉर्म?

SEO का पूरा रूप सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन [ Search Engine Optimization ] है।

Why Search Engine Optimization Necessary for Blog – SEO Blog के
लिए क्यों जरुरी है?

आप ने जान लिया की SEO क्या है,  ये जानना भी जरूरी की SEO किसी blog और वेबसाइट के लिए क्यूँ जरुरी है। अपने

website को आर्गेनिक रिजल्ट्स में show करवाने के  लिए हम SEO का इस्तेमाल करते हैं. जिससे हम ज्यादा से ज्यादा

ट्रैफिक गेन कर सकते हैं. 

मान लीजिए कि मैंने एक वेबसाइट बनाई और उस पर अच्छी गुणवत्ता वाली सामग्री पोस्ट की, लेकिन अगर मैं SEO का उपयोग नहीं करता, तो मेरी वेबसाइट लोगों तक नहीं पहुंचेगी और मेरी खुद की वेबसाइट बनाने में कोई फायदा नहीं होगा।

यदि हम SEO का उपयोग नहीं करते हैं, तो जब कोई उपयोगकर्ता किसी कीवर्ड पर खोज करता है, भले ही आपकी साइट में उस कीवर्ड से संबंधित सामग्री हो, तो उपयोगकर्ता आपकी साइट तक नहीं पहुंच पाएगा.

ऐसा इसलिए है क्योंकि सर्च इंजन आपकी साइट को ढूंढ नहीं पाएगा और आपकी साइट की सामग्री को अपने डेटाबेस में स्टोर नहीं कर पाएगा। इससे आपकी साइट पर ट्रैफिक आना बहुत मुश्किल हो जाएगा। यही कारण है कि आपकी वेबसाइट पर SEO ठीक से करना बहुत जरूरी है।

SEO क्या है?

Free Blog और Website or Web 2.0 कैसे बनाते  हैं.

Search Engine Optimization [ SEO ]  इतना जरूरी क्यूँ है?

चलिए अब SEO के बारे में जो जरूरी जानकारी पर एक नजर डालते है की SEO क्यों जरुरी है. 

 

अधिकांश उपयोगकर्ता अपने प्रश्नों के उत्तर प्राप्त करने के लिए ऑनलाइन खोज इंजन का उपयोग करते हैं। इस स्थिति में, वे सर्वोत्तम खोज इंजन परिणामों पर अधिक ध्यान केंद्रित करते हैं। इसलिए यदि आप भी लोगों के सामने आना चाहते हैं, तो आपको अपने ब्लॉग को रेट करने के लिए SEO सहायता भी लेनी होगी। इसका मतलब है कि आपको Google खोज परिणामों के पहले पृष्ठ पर जाना होगा।

 

SEO न केवल सर्च इंजन के लिए है, बल्कि अच्छी SEO प्रैक्टिस भी यूजर एक्सपीरियंस को बढ़ाने और आपकी वेबसाइट की सुविधा को बढ़ाने में मदद करती है.

 

उपयोगकर्ता आमतौर पर केवल सर्वोत्तम परिणामों पर भरोसा करते हैं और इससे उस साइट का विश्वास बढ़ता है। इसलिए SEO का सन्दर्भ जानने के साथ-साथ अपनी जानकारी को अप टू डेट रखना बहुत जरूरी है।

 

SEO आपकी वेबसाइट या ब्लॉग के सोशल प्रमोशन के लिए भी बहुत जरूरी है। क्योंकि जो लोग आपकी साइट को Google जैसे सर्च इंजन पर देखते हैं, वे उनमें से अधिकांश को Facebook, Twitter, Pinterest जैसे सोशल नेटवर्क पर साझा करते हैं।

 

SEO किसी भी वेबसाइट के ट्रैफिक को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

 

SEO किसी भी प्रतियोगिता में आगे रहने में जरूर मदद करता है। उदाहरण के लिए, यदि दो साइटें समान आइटम बेचती हैं, तो एक SEO-अनुकूलित साइट अधिक ग्राहकों को आकर्षित करती है और उनकी बिक्री भी बढ़ जाती है, जबकि अन्य नहीं कर सकते।

Type of SEO – SEO कितने Type का है?

On Page SEO
Off Page SEO
Local SEO

1. On-Page SEO क्या होता है

On page SEO अपनी वेबसाइट और ब्लॉग optimize करने का तरीका है जिसके जरिये हम blog/website  Search

Engine friendly  बनाते है.

 

On-Page SEO क्या है इसके बारे में हिंदी में पूरी जानकारी निचे दी  वीडियो में दी गए है वीडियो देखे।

 

 

Search के rules को फॉलो करके अपनी website में required changes करना ताकि हम easily organic रिजल्ट्स में रैंक पाए. 

On-Page SEO में हम blog/website के Meta Title, Meta description, content, Robots Txt, Sitemap, Images  ऑल्ट Tag, keyword आदि को ऑप्टिमाइज़ करते है जिससे Google को जानने में आसानी होती है की आपका content किसके ऊपर लिखा गया है और जल्दी आपके website को Google page पर rank करने में मदद करता है जो आपकी रैंकिंग में मदद करता है. 

On Page SEO कैसे करे? और  On-Page करने का तरीका 

यहां हम कुछ तकनीकों के बारे में जानेंगे जो हमें अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर अच्छे तरीके से On Page SEO करने में मदद करेंगी।

1. Website Speed

Website speed एक बहुत ही महत्वपूर्ण कड़ी है, Google के according website loading speed ० तो 0. 25 सेकंड के बीच होना चाइये। जितना जल्दी कोई वेबसाइट लोड होगी उतना बढ़िया उसका यूजर एक्सपीरियंस होगा। यूजर उतना ज्यादा टाइम वेबसाइट पर spend करेगा एंड वो आपको organic results/search इंजन रिजल्ट्स में मदद करता है. उतना ही ज्यादा आपको ट्रैफिक आएगा। 

अपने ब्लॉग या वेबसाइट को गति बढ़ाने  के लिए यहां कुछ महत्वपूर्ण सुझाव दिए गए हैं:

सरल और आकर्षक थीम का उपयोग करें

बहुत अधिक plugins का प्रयोग न करें

छवि का आकार छोटा करें

W3 टोटल कैशे और WP सुपर कैश प्लगइन्स का उपयोग करें.

 

2. साइट Menubar

अपने ब्लॉग या वेबसाइट को नेविगेट करना आसान होना चाहिए ताकि न तो विज़िटर और न ही Google को एक पेज से दूसरे पेज पर जाने में परेशानी हो। साइट पर नेविगेशन जितना आसान होगा, किसी भी सर्च इंजन के लिए साइट को नेविगेट करना उतना ही आसान होगा।

3. Title टैग optimization 

अपनी साइट पर शीर्षक टैग को बहुत अच्छा बनाएं ताकि कोई भी आगंतुक इसे पढ़े, तो जल्द से जल्द शीर्षक पर क्लिक करें। इससे आपका पीआर भी बढ़ेगा।

एक अच्छा टाइटल टैग कैसे बनाएं: टाइटल में 65 से ज्यादा शब्दों का प्रयोग न करें, क्योंकि गूगल सर्च में 65 शब्दों के बाद टाइटल टैग नहीं दिखाता है।

4. URLs Optimization /कैसे लिखें

अपनी लिस्टिंग के URL को हमेशा यथासंभव सरल और संक्षिप्त रखें।

5. Internal Link/आंतरिक संदर्भ

यह आपकी पोस्ट को रैंक करने का एक शानदार तरीका है। इससे आप अपने संबंधित पृष्ठों को एक दूसरे से लिंक कर सकते हैं। इस तरह, आपके सभी पेजों को आसानी से रैंक किया जा सकता है।

6. ऑल्ट टैग

अपनी साइट सूची में छवियों का उपयोग करना सुनिश्चित करें। चूंकि आप अपनी छवियों से बहुत अधिक ट्रैफ़िक प्राप्त कर सकते हैं, इसलिए अपनी छवि में एक ALT टैग जोड़ना सुनिश्चित करें।

7. Content, Heading और keyword 

जैसा कि हम सभी कंटेंट के बारे में जानते हैं, यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण कड़ी है। क्योंकि सामग्री को राजा भी कहा जाता है, और आपकी सामग्री जितनी अच्छी होगी, आपकी साइट का मूल्यांकन उतना ही बेहतर होगा। इसलिए कम से कम 800 शब्दों का कंटेंट लिखें।

आप सभी जानकारी भी प्रदान कर सकते हैं और यह SEO के लिए भी उपयोगी है। कभी भी दूसरों की सामग्री को कॉपी या कॉपी न करें।

Headline: अपने लेख की सुर्खियों पर विशेष ध्यान देना चाहिए क्योंकि इनका SEO पर बड़ा प्रभाव पड़ता है। लेख का शीर्षक H1 है, और फिर आप H2, H3 इत्यादि के साथ शीर्षक निर्दिष्ट कर सकते हैं। इस मामले में, आपको एक मास्टर कीवर्ड का उपयोग करने की आवश्यकता है।

कीवर्ड: अपना आर्टिकल लिखते समय LSI कीवर्ड का इस्तेमाल करें। इससे आप लोगों के सर्च को आसानी से लिंक कर सकते हैं। प्रासंगिक कीवर्ड दर्ज करें ताकि Google और आपके विज़िटर जान सकें कि वे महत्वपूर्ण कीवर्ड हैं और उनका ध्यान आकर्षित करें।

ये On-Page SEO के बारे में कुछ जानकारी के बारे में कुछ महत्वपर्ण  बिंदु थे।

2. Off-Page SEO क्या होता है और कैसे करते है

Off-Page SEO का काम ऑफ-ब्लॉग किया जाता है means के हमें वेबसाइट पर कोई चेंज नहीं करना होता हम और हम

दूसरी वेब्सीटेस पर अपने बैकलिंक्स  बनाते है. जिसके जरिये हम अपनी वेबसाइट पर organically उसेर्स को ला सके. 

Off -पेज SEO में, हमें अपने ब्लॉग को बढ़ावा देने की आवश्यकता होती है, जैसे कि कई लोकप्रिय ब्लॉगों पर जाना, उनके

लेख पर टिप्पणी करना और हमारी साइट को एक लिंक प्रदान करना, जिसे बैकलिंक कहा जाता है। बैकलिंक्स एक वेबसाइट

को बहुत सारे लाभ प्रदान करते हैं।

 

Off-Page SEO क्या है इसके बारे में हिंदी में पूरी जानकारी निचे दी  वीडियो में दी गए है वीडियो देखे।

 

 

फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, Quera , medium  जैसी सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर अपनी साइट के लिए एक आकर्षक पेज बनाएं और अपने फॉलोअर्स बढ़ाएं क्योंकि इससे आपकी साइट पर विजिटर्स की संख्या बढ़ सकती है।

जो बड़े ब्लॉग बहुत लोकप्रिय हैं, उन पर अपने ब्लॉग पर एक गेस्ट पोस्ट डालें ताकि उनके ब्लॉग पर आने वाले लोग आपको जान सकें और आपकी साइट पर ट्रैफिक आने लगे।

Off-Page SEO कैसे करें

यहां मैं आपको कुछ Off Page SEO Technologies के बारे में बताऊंगा जो बाद में आपके बहुत काम आएंगी।

1. सर्च इंजन सबमिशन: आपकी साइट सभी सर्च इंजनों को ठीक से सबमिट होनी चाहिए।

2. बुकमार्क करना: ब्लॉग और वेबसाइट का पेज और पोस्ट टैग की गई वेबसाइट पर होना चाहिए।

3. डायरेक्ट्री सबमिशन: आपके ब्लॉग या वेबसाइट को एक ऐसी डायरेक्टरी में सबमिट किया जाना चाहिए जिसमें एक लोकप्रिय उच्च पीआर हो।

4. सोशल मीडिया: अपने ब्लॉग या वेबसाइट पेज और सोशल मीडिया पर एक प्रोफाइल बनाएं और अपनी वेबसाइट, जैसे फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन पर एक लिंक जोड़ें

5. क्लासीफाइड सबमिशन: आपको एक फ्री सीक्रेट साइट पर जाकर अपनी साइट का फ्री में विज्ञापन देना चाहिए।

6. Question and Answer Website: आप Question and Answer वेबसाइट पर जाकर कोई भी सवाल पूछ सकते है और अपनी वेबसाइट का Link लगा सकते है.

7. ब्लॉग पर कमेंट करना: अपने ब्लॉग से संबंधित ब्लॉग पर जाकर आप उनकी पोस्ट पर कमेंट कर सकते हैं और अपनी साइट का लिंक डाल सकते हैं (लिंक वहीं होना चाहिए जहां साइट लिखी हो)।

8. पिन: आप अपनी वेबसाइट की इमेज Pinterest पर पोस्ट कर सकते हैं, यह ट्रैफिक बढ़ाने का एक बहुत अच्छा तरीका है।

9. Guest Post: आप अपनी साइट से संबंधित ब्लॉग पर जाकर Guest Post कर सकते हैं। यह सबसे अच्छी कड़ी है जिससे आप लिंक ले सकते हैं और यह सही तरीके से भी है।

3. Local SEO क्या है/ कैसे करें

अक्सर लोग पूछते हैं कि local SEO क्या है? अगर मैं विश्वास करूं, तो इसका उत्तर प्रश्न में ही निहित है।

यदि आप local SEO करते हैं तो यह दो शब्दों Local SEO का सारांश है। यानी लोकल ऑडियंस को ध्यान में रखकर किए गए SEO को लोकल SEO कहा जाता है।

यह आपकी वेबसाइट या ब्लॉग को विशेष रूप से आपके स्थानीय दर्शकों को खोज इंजन में बेहतर रैंक देने के लिए अनुकूलित किया गया है।

वैसे तो एक वेबसाइट की मदद से आप पूरे इंटरनेट को टारगेट कर सकते हैं और अगर आप सिर्फ एक खास लोकेशन को टारगेट करना चाहते हैं तो आपको लोकल SEO का इस्तेमाल करना होगा।

यहां आपको अपने शहर के नाम को अनुकूलित करने की आवश्यकता होगी, और आपको इसके पता डेटा को एक साथ अनुकूलित करने की भी आवश्यकता होगी। साथ ही, संक्षेप में, आपको अपनी साइट को अनुकूलित करने की आवश्यकता है ताकि लोग आपको न केवल ऑनलाइन बल्कि ऑफलाइन भी जान सकें।

स्थानीय एसईओ का एक उदाहरण

यदि आपका कोई स्थानीय व्यवसाय है, जैसे कि एक स्टोर जहां लोग अक्सर आपसे मिलने आते हैं, तो आप अपनी साइट को

अनुकूलित कर रहे हैं ताकि लोग वास्तविक जीवन में भी आप तक आसानी से पहुंच सकें। .

यदि आप यहाँ केवल अपने स्थानीय क्षेत्र को लक्षित करते हैं और SEO ने आपकी साइट को उसके अनुसार अनुकूलित किया है। इस प्रकार के SEO को तब “लोकल SEO” कहा जाता है।

SEO और SEM को क्या अलग बनाता है?

SEO का मुख्य लक्ष्य यह है कि आपके ब्लॉग / वेबसाइट को बेहतर सर्च इंजन रैंकिंग के लिए ठीक से अनुकूलित किया जा सके। इस बीच, SEM से आप SEO से ज्यादा काम करवा सकते हैं। क्योंकि यह फ्री ट्रैफिक तक सीमित नहीं है, इसमें पीपीसी विज्ञापन और अन्य जैसे अन्य तरीके भी शामिल हैं। SEO केवल आर्गेनिक रिजल्ट्स ही देता है. 

SEO करना कोई मुश्किल काम नहीं पर सही तकनीक उसे होनी चाइये। SEO में कंटेंट बहुत बड़ी भूमिका निभाता है अगर दूसरे सब्दो  तो “content is the king”. अगर आपका कंटेंट क्वालिटी बाला है, 100% unique है और वेबसाइट का SEO अचे से हुआ है तो कोई  भी ताकत उसे रैंक  नहीं रोक सकती है. 

इसी लिए मेरा सुजेशन यही है के आप जो भी लिखे उसमे क्वालिटी प्रोवाइड करे  इन्फोर्मटिवे हो तो यूजर 100% वेबसाइट पर रुकेगा. 

Leave a Comment