कपिल देव का जीवन परिचय | Biographical sketch of Kapil Dev in Hindi

कपिल देव का जीवन परिचय | Biographical sketch of Kapil Dev in Hindi

कपिल देव जी से परिचय

कपिल देव की जीवनी/Kapil Dev Biography, भारत में क्रिकेट को एक विशेष दर्जा प्राप्त है, जहां हर क्रिकेटर को लोगों से बहुत प्यार और अपनापन मिला है। आज तक, इनमें से कई खिलाड़ी भारतीय क्रिकेट टीम में भाग ले चुके हैं, जिसने हमेशा अपने देश का नाम बरकरार रखा है और युवाओं के लिए प्रेरणा का एक नया स्रोत बन गया है। आज हम कपिल देव जी भारतीय क्रिकेट के हीरो के बारे में कुछ जानकारी देने जा रहे हैं।

कपिल देव का पूरा नाम

आपको लगता होगा के कपिल देव या कपिल पाजी इनका असली नाम है, लेकिन आपको बता दे इनका पूरा नाम कपिल देव निखंज है. जिसके बारे में सायद ही आपको पता हो.

कपिल देव का जन्म

उनका जन्म 6 जनवरी 1959 को चंडीगढ़, पंजाब में हुआ था। पिता का नाम रामलाल निखंज था, जो एक ठेकेदार था। उनकी माता का नाम राज कुमारी लाजवंती है, जो एक गृहिणी हैं। उनके पिता लकड़ी के व्यवसाय में एक व्यवसायी बन गए थे और उनकी माँ एक गृहिणी थीं। कपिल देव के सात भाई-बहन हैं, जिनमें से तीन भाई और चार बहनें हैं। और बात करे कपिल देव की, ये 6वें नंबर पर थे। कपिल देव की पत्नी का नाम रोमी भाटिया है। उन्होंने 1980 में शादी की और उनकी अमिय देव नाम की एक बेटी है।

कपिल देव का जीवन और शिक्षा

कपिल देव जी की प्रारंभिक शिक्षा डीएवी स्कूल चंडीगढ़ से की और वहीं पर अपना पूरा स्कूली जीवन व्यतीत किया। उसके बाद वह कॉलेज की पढ़ाई के लिए सेंट एडवर्ड कॉलेज में गए। पहले उनका ध्यान और मन पढ़ाई में बिलकुल नहीं था, लेकिन कॉलेज तक आते उनका मन पढ़ाई में भी लगने लगा था. लेकिन कपिल जी की रूचि क्रिकेट की ओर ज्यादा थी और क्रिकेट को ही अपने कॅरिअर के रूप में देख रहे थे.

देश प्रेम आज़ाद जी ने कपिल को क्रिकेट शिखाया, इनहे क्रिकेट के मशहूर कोच और द्रोणाचार्य भी कहा गया. कपिल देव को एक बढ़िया आलराउंडर खिलाडी बनाने में देश प्रेम आज़ाद जी ने दिन रात मेहनत की. और कपिल देव उमीदो पर खरा उतरे।

कपिल देव के क्रिकेट कॅरियर की शुरुआत

1. उन्होंने अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत साल 1975 में की थी। उन्होंने हरियाणा के लिए अपना पहला मैच पंजाब के खिलाफ खेला था।

2. कपिल देव ने इस मैच में 6 विकेट लिए और पंजाब की टीम को 63 रन पर ही रोक दिया। इस मैच में कपिल देव ने शानदार प्रदर्शन कर हरियाणा टीम को जीत दिला दी।

3. वर्ष 1976-1977 के दौरान उन्होंने जम्मू-कश्मीर के खिलाफ 8 विकेट लेकर 36 रन बनाकर अच्छा प्रदर्शन किया।

4. इस दौरान उन्होंने बंगाल के खिलाफ खेलते हुए महज 20 रन देकर 7 विकेट लिए.

5. कपिल देव के लगातार प्रदर्शन के कारण उन्हें भारतीय क्रिकेट टीम में खेलने का मौका दिया गया। और उनका पहला अंतरराष्ट्रीय टेस्ट मैच पाकिस्तान के खिलाफ 1978 में खेला था।

6. साल 1979-1980 के दौरान कपिल देव ने दिल्ली के खिलाफ हरियाणा के लिए खेला, जिसमें उन्होंने 193 रनों की नाबाद पारी खेली और हरियाणा को जीत दिलाई। ये उनके करियर का पहला शतक था।

टेस्ट मैच

कपिल देव का पहला टेस्ट शतक वेस्टइंडीज के खिलाफ बनाया था। जिसमे उन्होंने 124 गेंद में 126 रन बनाए थे। इस मैच में इन्होंने 17 विकेट लिए थे।

1982 में भारतीय टीम का कप्तान कपिल देव को बना दिया और 1983 टीम इंडिया ने विश्वकप जीता था।

कपिल देव का वैवाहिक जीवन

कपिल देव ने 1980 में रोमी भाटिया से शादी की, जिसके बाद उनके घर एक लड़की भी पैदा हुई, जिसका नाम उन्होंने अमिय देव रखा।

1983 वर्ल्ड कप में कपिल देव ने बेहतर बल्लेबाजी की और टीम इंडिया को जीत का सेहरा पहनाया, जिसमें उन्होंने जिम्बाब्वे को सेमीफाइनल में हराया। इसके साथ ही उन्होंने करीब 175 रन बनाए थे और कई अहम मौकों पर विकेट भी लिए थे। इतना ही नहीं किरमानी से उनका काफी जुड़ाव था।

1983 वर्ल्ड कप के दौरान क्या घटना घटी

वर्ल्ड कप के दौरान बीबीसी की हड़ताल की वजह से उस समय होने वाले मैच को TV पर नहीं दिखाया गया. जिसकी वजह से क्रिकेट प्रेमियों के दिल में हलचल मची हुई थी और वह आगे के मैच को देखना चाहते थे लेकिन इस हड़ताल की वजह से क्रिकेट प्रेमी मैच को नहीं देख पाए।

1983 वर्ल्ड कप में भारत ने इंग्लैंड को हराकर फाइनल में प्रवेश किया था, उस समय लोगों में अपने खिलाड़ियों के प्रति ज्यादा प्यार था और जश्न मनाया था। कि भारत विश्व कप जीतेगा, हालांकि भारत के लिए विश्व कप जीतना आसान नहीं था क्योंकि उनका आखिरी मैच वेस्टइंडीज के साथ होने वाला था और उस समय वे भी एक मजबूत टीम के रूप में हमारा सामना कर रहे थे।

कपिल देव कोच के रूप में

कपिल देव एक बेहतर कप्तान और खिलाड़ी तो थे लेकिन अब बीसीसीआई ने कपिल को टीम ने कोच के रूप में चुन लिया। लेकिन लगातार हार की वजह से उन पर लोगो में मैच फिक्सिंग का आरोप लगा दिया. जिसकी बझा से 10 महीनो में ही उन्होंने कोच पद से इस्तीफा दे दिया।

कपिल देव की संपत्ति

कपिल देव की कुल संपत्ति 220 करोड रुपए के लगभग है जो बढ़ रही है क्युकी विज्ञापनों और अन्य कार्यक्रमों के लिए कपिल जी को प्रस्ताव आते रहते है.

दोस्तों ये थी क्रिकेट जगत के महान खिलाडी, कप्तान और कोच कपिल देव जी की जीवनी। हमने तो मात्र 1000 वर्ड में सब बता दिया बिल्कुकूल सरल तरीके से लेकिन इस मुकाम हो हासिल करने के लिए उनको जितनी महान करनी पड़ी होगी। जिसका कोई भी अनुमान नहीं लगा सकता। पर हमेशा हमारे दिल में उनके लिए प्यार और इज्जत रहेगी। krdigitalmakers की पूरी टीम एक और legend को सलूट करती है. भगवान से उनकी अछि सेहत की कामना करते है.

दोस्तों आशा करते है की दी गए जानकारी आपको पसंद आई होगी, इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करे. धन्यबाद!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *